Collector Banne Ke Liye Exam – कलेक्टर बनने के लिए कौन सा एग्जाम देना होता है

1.5/5 - (2 votes)

यदि आपको कलेक्टर बनना है तो सबसे पहले आपको कलेक्टर बनने के लिए इससे संबंधित एग्जाम के बारे में कंप्लीट जानकारी होनी चाहिए। चलिए आप सभी लोगों को आगे अपने आज के इस महत्वपूर्ण लेख के माध्यम से Collector Banne Ke Liye Exam के बारे में पूरी विस्तार से जानकारी देते हैं । 

साथी साथ मैं आपको अपने इस लेख के माध्यम से कलेक्टर बनने से संबंधित सभी जरूरी बताऊंगा और इतना ही नहीं आपको कलेक्टर बनने के बाद कितनी सैलरी मिलेगी? एवं कलेक्टर को कौन-कौन सी अन्य सरकारी सुविधाएं मिलती है? इसके बारे में जानने को मिलेगा, इसीलिए लेख में दी गई जानकारी को शुरू से लेकर अंतिम तक पढ़े और कोई भी जानकारी बिल्कुल भी मिस ना करें।

कलेक्टर कौन होता है

कलेक्टर एक आईएएस अधिकारी होता है, जोकि आईएएस ऑफिसर बनने के बाद ही कलेक्टर बनता है। साधारण शब्दों में कहें तो कलेक्टर किसी भी जिले का एक ऐसा प्रमुख अधिकारी होता है जोकि जिले के सभी अधिकारियों को संभालने और जिले की कानून व्यवस्था और शांति व्यवस्था बनाए रखने से संबंधित अपने कर्तव्य को निभाने का काम करता है। 

Collector Banne Ke Liye Exam

प्रत्येक जिले का अलग-अलग कलेक्टर अधिकारी होता है और उसके हिस्से में जिले से संबंधित सभी देखरेख का काम आता है। यदि कलेक्टर अधिकारी जिले में ना हो तो कानूनी व्यवस्था बिगड़ सकती है और इतना ही नहीं जिले की कई अन्य आर्थिक एवं सामाजिक व्यवस्थाओं पर भी इसके कारण काफी गहरा दुष्प्रभाव पड़ सकता है इसीलिए कलेक्टर अधिकारी का होना बहुत ही महत्वपूर्ण है और बिना कलेक्टर अधिकारी के जिले को चलाना आसान नहीं। 

कलेक्टर बनने के लिए एग्जाम

कलेक्टर अधिकारी बनने के लिए आपको प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा, साक्षात्कार और ट्रेनिंग जैसे चरणों से होकर गुजर ना होता है और तब जाकर आपका कलेक्टर बनने का एग्जाम पूरा होता है और फिर आप एक कलेक्टर अधिकारी के तौर पर नियुक्त किए जाते हो। 

चलिए आप मैं आप सभी लोगों को आगे कलेक्टर बनने के लिए जितने भी एक्जाम लिए जाते हैं उन सभी के बारे में विस्तार से जानकारी देता हूं और आप इसके लिए हमारे द्वारा नीचे दी गई जानकारी को ध्यान से पढ़ें एवं इसे अच्छे से समझने का भी प्रयास करें।

1. कलेक्टर बनने के लिए प्रारंभिक परीक्षा

यूपीएससी की तरफ से कलेक्टर बनने के लिए प्रारंभिक परीक्षा को जून-जुलाई से लेकर के अगस्त के महीने के समय में प्रत्येक वर्ष आयोजित किया जाता है। प्रारंभिक परीक्षा के अंतर्गत उम्मीदवारों को दो-दो पेपर देने होते हैं। पहला परीक्षा सामान्य अध्ययन और दूसरा परीक्षा सिविल सर्विस एटीट्यूड टेस्ट के तौर पर लिया जाता है। दोनों ही पेपर 250-250 अंकों के होते हैं। यदि उम्मीदवार प्रारंभिक परीक्षा को पास कर लेता है तभी उसे आगे मुख्य परीक्षा में बैठने की अनुमति मिलती है।

क्रम संख्या प्रश्न पत्रप्रश्नपत्र अंक 
सामान्य अध्ययन250 अंक
सिविल सर्विस एटीट्यूड टेस्ट250 अंक

2. कलेक्टर बनने के लिए मुख्य परीक्षा

प्रारंभिक परीक्षा को पास कर लेने के पश्चात उम्मीदवारों को मुख्य परीक्षा में बैठने के लिए बुलाया जाता है और मैं आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि मुख्य परीक्षा में कुल 9 पेपर लिए जाते हैं। मुख्य परीक्षा उम्मीदवारों के लिए काफी चुनौतीपूर्ण परीक्षा होती है। मुख्य परीक्षा में ऑब्जेक्टिव और सब्जेक्टिव दोनों ही प्रकार के प्रश्नों को पूछा जाता है। मुख्य परीक्षा से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी के लिए नीचे टेबल में दी गई जानकारी को देखें।

क्रम संख्या प्रश्न पत्र प्रश्नपत्र अंक 
सामान्य अध्ययन पार्ट 1250 अंक
सामान्य अध्ययन पार्ट 2250 अंक
सामान्य अध्ययन पार्ट 3250 अंक 
सामान्य अध्ययन पार्ट 4250 अंक 
वैकल्पिक विषय पार्ट 1250 अंक
वैकल्पिक विषय पार्ट 2  250 अंक
निबंध लेखन 250 अंक 
अंग्रेजी भाषा 300 अंक
भारतीय भाषा300 अंक 

3. कलेक्टर बनने के लिए साक्षात्कार

जब आप प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा को पास करें तब बारी आती है साक्षात्कार देने की पूर्ण ब्रह्म साक्षात्कार 48 मिनट का होता है और साक्षात्कार में आपके बुद्धिमता की पूरी जांच की जाती है और आप से ऐसे ऐसे प्रश्न पूछे जाते हैं जिनका आपको काफी सोच समझकर उत्तर देना होता है। यदि आप इंटरव्यू यानी कि साक्षात्कार को क्लियर कर लेते हो तब आप का 90% से भी अधिक काम पूरा हो जाता है बस आपको आगे कलेक्टर बनने के लिए ट्रेनिंग देनी होती है। 

साक्षात्कार48 मिनट का

4. कलेक्टर बनने के लिए ट्रेनिंग

कलेक्टर बनने के सभी चरण को पूरा कर लेने के बाद आपको 2 वर्षों की ट्रेनिंग के लिए भेजा जाएगा और आपको   इसके लिए लबासना भेजा जाएगा। 2 वर्षों की आपको कड़ी ट्रेनिंग दी जाती है और इस ट्रेनिंग में आप एक योग्य कलेक्टर अधिकारी बनने के लिए पूरी तरीके से तैयार हो जाते हैं और फिर आपको कलेक्टर अधिकारी के पद पर पोस्ट कर दिया जाता है।

ट्रेनिंग का स्थानट्रेनिंग की समय अवधि 
मसूरी लबासना24 महीने 

कलेक्टर बनने के लिए एग्जाम की तैयारी कैसे करे

अगर आप कलेक्टर बनने के लिए अपने एग्जाम की तैयारी अच्छे से करना शुरू कर दो तो आपका काम काफी हद तक आसान हो जाता है। मैंने यहां पर कुछ अनुभवी लोगों के साथ बातचीत करते हुए कलेक्टर बनने के लिए एग्जाम से संबंधित जानकारी के बारे में काफी कुछ जाना और उसी आधार पर मैं आपको यहां पर कुछ टिप्स देने वाला हूं और आप इन टिप्स को नीचे ध्यान से जरूर पढ़ें ताकि आपको सही गाइडेंस मिल सके।

  • सर्वप्रथम आपको कलेक्टर बनने का अपना एक क्लियर लक्ष्य निर्धारित कर लेना है और उसी पर काम करना है।
  • कलेक्टर बनने के लिए यूपीएससी एग्जाम को क्लियर करना होता है इसीलिए आपको कम से कम पिछले 5 वर्षों का एग्जाम का पैटर्न समझना है और हो सके तो पिछले 5 वर्षों के आए हुए प्रश्नों को खुद सॉल्व करने की कोशिश करें।
  • आपको करंट अफेयर के बारे में पूरी कंपनी जानकारी होनी चाहिए और आप इसके लिए न्यूज़ एवं करंट अफेयर की न्यूज़ पर अपनी नजर बनाए रखें।
  • आपको भारतीय अर्थव्यवस्था एवं भारतीय अर्थशास्त्र के बारे में भी जानकारी होनी चाहिए और आप इससे संबंधित जहां से भी जानकारी मिले उस जानकारी को पढ़ें एवं समझने का प्रयास करें।
  • एनसीईआरटी की बुक को भी पढ़ने की कोशिश करें और हो सके तो एनसीईआरटी की 10वीं एवं 12वीं किसी को अच्छे से पढ़ें।
  • आप जितना हो सके उतना मॉडल पेपर पढ़ने की कोशिश करें और उसे खुद सॉल्व करने का प्रयास करें ताकि आपकी तैयारी बेहतर हो सके।
  • जिन लोगों ने पहले ही यूपीएससी का एग्जाम दिया हुआ है, उनसे मिलने की कोशिश करें और उनके अनुभव को पूछे ताकि आप को तैयारी करने की थोड़ी बहुत जानकारी मिल सके।
  • अपने सबसे कमजोर सब्जेक्ट को सबसे पहले तैयार करने की कोशिश करें ताकि आपको इसे लेकर कोई समस्या ना हो।
  • अच्छे से अच्छा कोचिंग सेंटर ज्वाइन करने की कोशिश करें। यूपीएससी से संबंधित हमारे देश में कई अन्य जगहों पर काफी अच्छी कोचिंग चलाई जाती है, हालांकि इसमें थोड़ा पैसा लगेगा परंतु अगर आप सही से कोचिंग करोगे तो आपको काफी ज्यादा सहायता मिल जाएगी।
  • पढ़ाई करने का प्रॉपर सेड्यूल बनाएं और अपने उसी शेड्यूल पर पढ़ाई करें ताकि आपकी तैयारी बेहतर तरीके से हो सके और इसमें कोई भी रुकावट ना आए।

कलेक्टर बनने के लिए अप्लाई कैसे करे

यदि आपको कलेक्टर बनना है तो आपको यूपीएससी के आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर के अपना आवेदन देना होगा और उसके बाद आपको परीक्षा में बैठने के बाद इसे पास करने के बाद आप कलेक्टर के पद पर नौकरी कर पाएंगे। चलिए अब मैं आप सभी लोगों को आगे कलेक्टर बनने के लिए आवेदन कैसे करते हैं? के बारे में विस्तार से बताता हूं और आप इसके लिए नीचे दी गई जानकारी को ध्यान से फॉलो करें। 

  • सबसे पहले आपको यूपीएससी के अधिकारिक वेबसाइट पर जाना है और इसके होम पेज को ओपन कर लेना है। 
  • यूपीएससी के आधिकारिक वेबसाइट पर आने के बाद आपको यहां पर एग्जामिनेशननामक ऑप्शन देखने को मिल जाएगा और आप इस वाले ऑप्शन पर क्लिक कर दीजिए। 
  • अब इतना प्रोसेस कंप्लीट कर लेने के बाद आपको आगे अप्लाई ऑनलाइन नमक ऑप्शन देखने को मिल जाएगा और आप इस वाले ऑप्शन पर भी क्लिक कर दीजिए।
  • जैसे ही आप इतना प्रोसेस कंप्लीट कर लेंगे वैसे ही आपके सामने यहां पर ऑनलाइन एग्जामिनेशन फॉर वैरीयस एग्जामिनेशन नामक ऑप्शन देखने को मिलेगा और आप इस वाले ऑप्शन पर क्लिक कर दीजिए।
  • कलेक्टर बनने से संबंधित आवेदन करने के लिए आपको यहां परसिविल सर्विस एग्जामिनेशन नामक ऑप्शन दिखाई देगा और आप इस वाले ऑप्शन पर क्लिक करके आगे की प्रोसेस को कंप्लीट करना होगा।
  • अब अपने रजिस्ट्रेशन प्रोसेस को कंप्लीट करने के लिए आपको यहां पर स्टार्ट आईएस रजिस्ट्रेशन विद पार्ट वन’ नामक एक ऑप्शन दिख जाएगा और आपको इस वाले ऑप्शन के ऊपर भी क्लिक कर देना है फिर आपके सामने एक नया इंटरफ़ेस आ जाएगा।
  • इतना प्रोसेस कंप्लीट करने के बाद अब आपको यहां पर एक आवेदन फार्म प्राप्त होगा और आपको आवेदन फॉर्म में पूछी जा रही जानकारी को ध्यान से भरना है, ध्यान रहे आप इसमें कोई भी गलत जानकारी  ना भरे। यदि आप इसमें गलत जानकारी भरेंगे तो आपका आवेदन फॉर्म रिजेक्ट भी हो सकता है।
  • जरूरी जानकारी को ध्यान से भर लेने के बाद अब आपको यहां पर सभी जरूरी डॉक्यूमेंट को भी अपलोड करने को कहा जाएगा और यहां पर आपसे जो भी डॉक्यूमेंट की मांग की जा रही है, आप उन सभी डाक्यूमेंट्स को एक-एक करके अधिकारिक वेबसाइट पर अपलोड कर दीजिए।
  • अपने आवेदन फॉर्म को भर लेने के बाद और सभी जरूरी डॉक्यूमेंट को अधिकारिक वेबसाइट पर अपलोड कर देने के बाद अब आपको यहां पर डिक्लेरेशन एक्सेप्ट करने को कहा जाएगा और आप इसे एक्सेप्ट कर लीजिए।
  • अब फाइनली आप एक बार अपने आवेदन फॉर्म को जांच जरूर करें और उसके बाद ₹100 का आवेदन शुल्क का भुगतान करें।
  • आपको यहां पर आवेदन शुल्क का भुगतान करने के लिए अनेकों प्रकार के भारतीय पेमेंट गेटवे आपसे मिलेंगे और आप किसी भी पेमेंट गेटवे ऑप्शन का इस्तेमाल करके इसका भुगतान कंप्लीट करें।
  • भुगतान कंप्लीट करने के पश्चात अब आपको यहां पर अपने आवेदन फॉर्म को सबमिट कर देना है और साथ ही साथ इसका प्रिंटआउट अपने पास निकालकर के सुरक्षित रखना है।
  • इतना प्रोसेस कंप्लीट कर लेने के बाद आपका कलेक्टर बनने के लिए यूपीएससी के अंतर्गत आवेदन पूरा हो जाता है। 

यूपीएससी में कलेक्टर बनने के लिए एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया

कलेक्टर बनने के लिए आपको सबसे पहले यूपीएससी के अंतर्गत निर्धारित किए गए कुछ एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया के बारे में जान लेना चाहिए और इसके लिए आपको नीचे दिए गए पॉइंट में जानकारी को ध्यान से पढ़ना होगा ताकि आपको एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया के बारे में सही जानकारी मालूम है। 

  • सबसे पहले तो उम्मीदवार भारत का मूल निवासी होना अनिवार्य है।
  • उम्मीदवार 10वीं ऑफिस 12वीं पास होना चाहिए।
  • साथी साथ स्नातक की परीक्षा पूरी कर चुका हो या फिर स्नातक की परीक्षा में फाइनल ईयर की तैयारी कर रहा हो ऐसे उम्मीदवार अपना आवेदन दे सकते हैं।
  • उम्मीदवार की उम्र 21 वर्ष से लेकर के 40 वर्ष के मध्य होनी चाहिए।
  • उम्मीदवार मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ होना चाहिए।
  • उम्मीदवार के बाद सभी प्रकार के शारीरिक स्वास्थ्य प्रमाण पत्र और शिक्षा संबंधित सर्टिफिकेट होना चाहिए।
  • उम्मीदवार के ऊपर किसी भी प्रकार का केस नहीं होना चाहिए। 

कलेक्टर बनने के बाद कितनी सैलरी मिलती है

एक कलेक्टर अधिकारी का मासिक वेतन ₹100000 से भी अधिक होता है। यदि कलेक्टर अधिकारी आईएएस अधिकारी कैबिनेट सचिव के पद पर पहुंच जाता है तो उसकी सैलरी 2,50,000 रुपये प्रतिमाह पहुंच जाती है। इसके अलावा भी कलेक्टर अधिकारी को कई अन्य सरकारी सुविधाएं प्राप्त होती है।

कलेक्टर को मिलने वाली अन्य सरकारी सुविधाएं

चलिए अब मैं आप सभी लोगों को आगे कलेक्टर अधिकारी को मिलने वाले कई अन्य सरकारी सुविधाओं के बारे में भी बता देता हूं और आप इसके लिए नीचे पॉइंट में ली गई जानकारी को ध्यान से पढ़ें।

  • नौकरी के समय काल तक कलेक्टर को बंगला प्रदान किया जाता है।
  • उसकी सुरक्षा के लिए सिक्योरिटी गार्ड भी प्रदान किया जाता है।
  • वाहन चालक, वाहन एवं घरेलू कामों के लिए नौकरों की सुविधा भी दी जाती है।
  • बिजली, पानी और टेलीफोन की सुविधा भी दी जाती है, इन सभी का बिल सरकार ही भर्ती है।
  • रिटायर होने के बाद लाइफटाइम पेंशन की सुविधा भी प्रदान की जाती है।

कलेक्टर एग्जाम से सम्बंधित पूछे जाने वाले प्रश्न

कलेक्टर बनने के लिए क्या पढ़ाई करनी चाहिए?

किसी भी स्ट्रीम आर्ट्स, कॉमर्स और साइंस में ग्रेजुएशन की डिग्री ठीक काम करेगी।

कलेक्टर बनने में कितना समय लगता है?

यूपीएससी की तैयारी के लिए आपको कम से कम 3 से 4 वर्ष का समय लगता है और आप इस दृष्टिकोण से कह सकते हैं कि यदि आपने एक अटेम्प्ट में परीक्षा क्लियर कर लिया तो आपको 4 से 5 वर्ष तक का समय कलेक्टर बनने में समय लग सकता है।

निष्कर्ष 

Collector Banne Ke Liye Exam के बारे में हमने अपने आज के इस लेख में जानकारी दी है और हमें उम्मीद है कि यह जानकारी आप लोगों के लिए जरूर उपयोगी और सहायक साबित हुई होगी। जानकारी अच्छी लगी तो आप इसे सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें एवं किसी भी प्रकार की सहायता के लिए आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

Spread the love

Leave a Reply

Translate »